Pravasi Swarojgar Yojana

आज हम उत्तराखंड राज्य की एक योजना लेकर आए हैं जहां पर अगर  उत्तराखंड राज्य के निवासी है और काम की वजह से किसी दूसरे राज्य में काम कर रहे थे और इस लॉक डाउन की वजह से घर वापस आना पड़ा है तो ऐसे में सरकार ने एक नई योजना की शुरुआत की है जिससे कि आप उत्तराखंड में ही अपना नया व्यापार को शुरू कर सकते हैं हम आज इस पोस्ट के माध्यम से आपको Pravasi Swarojgar Yojana के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे 

जहां पर हम आपको बताएंगे कि उत्तराखंड के मुख्यमंत्री जी ने किस योजना की शुरुआत की है और इस योजना का फायदा आप किस प्रकार से उठा सकते हैं हम यहां पर आपको इसके बारे में पूरी जानकारी विस्तार से देंगे जिससे कि आप इस योजना का फायदा उठा सकें इसके अलावा हम आपको ऑनलाइन और ऑफलाइन की सरकार से आवेदन कर सकते हैं इसकी प्रक्रिया भी बताएंगे |

अगर को यह जानकारी भी नहीं है कि कौन इस योजना का फायदा उठा सकता है तो नीचे हम इस पोस्ट में आपको इसके बारे में भी विस्तार से बता रहे हैं इसीलिए आप हमारी यह पोस्ट शुरू से लेकर अंतिम तक ध्यान से पढ़ें जिससे कि आपको इस योजना के बारे में पूरी जानकारी मिल सके |

लेकिन इससे पहले कि हम Pravasi Swarojgar Yojana के बारे में कोई भी जानकारी को देना शुरू करें हम आपको यह भी बताना चाहेंगे कि अगर आप हमारी वेबसाइट पर पहली बार आया है तो आपकी जानकारी के लिए बता दे कि हम इस वेबसाइट के माध्यम से केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं के बारे में पोस्ट के माध्यम से जानकारियों को साझा करते हैं |

Medhavi Chaatra Yojana Hindi | मेधावी छात्र योजना

Pravasi Swarojgar Yojana

इस योजना के तहत, परियोजनाओं के लिए रुपये तक का ऋण प्रदान किया जाएगा। निर्माण में 25 लाख और रु. सेवा क्षेत्र में 10 लाख। एमएसएमई नीति के अनुसार, वर्गीकृत श्रेणी ए में मार्जिन मनी की अधिकतम सीमा कुल परियोजना लागत का 25 प्रतिशत है, श्रेणी बी और बी में 20% और सी एंड डी श्रेणी में कुल परियोजना लागत का 15% तक मार्जिन के रूप में देय होगा पैसे।

उत्तराखंड सरकार ने कोरोनवायरस (COVID-19) लॉकडाउन के दौरान राज्य में लौटे प्रवासियों को बनाए रखने के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना (मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना) शुरू की है इस योजना के तहत उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार अन्य राज्यों में फंसे लोटे पेशेवरों को अपने ही राज्य उत्तराखंड में अपने स्वयं के उद्योग खोलने के लिए प्रोत्साहित करने का काम करेगी।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना 2021 में अब लोग राष्ट्रीयकृत बैंकों, ग्रामीण बैंकों और सहकारी बैंकों से आसान कर्ज ले सकते हैं। सामान्य वर्ग के लाभार्थी को परियोजना की कुल लागत का 10% देना होगा जबकि विशेष श्रेणी के लोगों को कुल परियोजना लागत का 5% ग्राहक योगदान के रूप में देना होगा।

ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

  • आधिकारिक वेबसाइट उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना यानी www.doiuk.org पर जाएं।
  • होमपेज पर, “मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना आवेदन पत्र पीडीएफ” का विकल्प देखें। आपको इस विकल्प पर क्लिक करना है और आवेदन पत्र का पीडीएफ डाउनलोड करना है।
  • इस आवेदन पत्र में अपना नाम, पिता का नाम / पति का नाम और अन्य सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करें।
  • पूछी गई सभी जानकारी दर्ज करते हुए, आपको दस्तावेजों को फॉर्म में संलग्न करना चाहिए और इसे निकटतम राष्ट्रीयकृत बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, राज्य सहकारी बैंक और अन्य अनुसूचित बैंक में जमा करना चाहिए।

ऑफलाइन कैसे आवेदन कर सकते है?

  • सबसे पहले, किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, राज्य सहकारी बैंकों और अन्य अनुसूचित बैंकों में जाएँ।
    बैंक में जाने के बाद आपको मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना का आवेदन पत्र उस अधिकारी के पास ले जाना होगा।
  • आवेदन पत्र लेने के बाद आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी जानकारी जैसे नाम, जन्म तिथि, आधार संख्या, मोबाइल आदि भरनी होगी।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको अपने सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज अपने आवेदन पत्र के साथ संलग्न करने होंगे।
  • इसके बाद आपको उस बैंक से आवेदन पत्र जमा करना होगा, जहां से आपने फॉर्म लिया था। फॉर्म जमा करने के बाद, आपका फॉर्म बैंक अधिकारी द्वारा सत्यापित किया जाएगा।
  • सत्यापन के बाद आपको ऋण प्रदान किया जाएगा।

महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • वोटर आई कार्ड
  • आधार कार्ड
  • राशन पत्रिका
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता
  • नवीनतम पासपोर्ट साइज फोटो

योजना के लिए आवेदन कौन कर पायेगा?

  • योजना का लाभ उन्हीं को दिया जाएगा जो मूल रूप से उत्तराखंड के निवासी होंगे। किसी अन्य राज्य के निवासियों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
  • इस योजना का लाभ केवल उन्हीं को दिया जाएगा जो आर्थिक रूप से कमजोर होंगे और सरकार की मदद से अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं।
  • सरकार जरूरतमंद युवाओं को एक निश्चित समय और अवधि के लिए ऋण उपलब्ध कराएगी, जिसकी मदद से वे अपना व्यवसाय शुरू कर सकते हैं।
  • लाभार्थी का चयन जिला स्तर पर किया जाएगा। इसके लिए चयन समिति का गठन किया गया है। युवाओं को इंटरव्यू की प्रक्रिया से गुजरना होगा।

योजना से किया फायदा होगा?

  • इस योजना के लागू होने के बाद अब किसी भी प्रवासी मजदूर को भरण-पोषण के लिए दूसरे राज्य में नहीं जाना पड़ेगा।
  • मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत राष्ट्रीयकृत बैंकों, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों, राज्य सहकारी बैंकों और अन्य अनुसूचित बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।
  • यह योजना राज्य में मजदूरों को समूह के रूप में काम करने और स्वरोजगार के लिए प्रोत्साहित करने का काम करेगी।
  • इस योजना के तहत विनिर्माण क्षेत्र में 25 लाख रुपये तक और सेवा क्षेत्र में 10 लाख रुपये तक की परियोजनाओं के लिए ऋण प्रदान किया जाएगा।
  • केवल ऑनलाइन या ऑफलाइन मोड के माध्यम से आवेदन करके, पात्र होने की स्थिति में ही लाभ उठाया जा सकता है।
  • इस योजना के तहत सभी उद्योगों, सेवाओं और व्यवसायों को वित्त पोषण की व्यवस्था प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना से दूसरे राज्यों से लौटने वाले प्रवासी कामगारों को ही लाभ होगा।
 निष्कर्ष 

हमने यहां पर आपको Pravasi Swarojgar Yojana के बारे में पूरी जानकारी प्रदान की है इसके अलावा भी अगर आप को इस योजना के बारे में किसी और जानकारी की जरूरत है तो आप हमें चेक पोस्ट माध्यम से भी बता सकते हैं |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here