Kisan Rail Yojana

हम अच्छे से जानते हैं कि देश के प्रधानमंत्री जी ने कहा था कि 2022 तक किसानों की आय को  दुगनी कर दिया जाएगा, इसी कड़ी में सरकार ने एक और नया कदम उठाया है Kisan Rail Yojana की शुरुआत की है इस योजना के तहत सरकार अपने लक्ष्य की ओर एक कदम आगे बढ़ चुकी है जिसके तहत किसानों की आय को दुगनी करने में मदद मिलने वाली है |

आज की पोस्ट में हम आपको Kisan Rail Yojana के बारे में बात करने जा रहे हैं और हम आपको बताएंगे कि इस योजना के तहत आप किस प्रकार से लाभ ले सकते हैं और यह योजना क्या है इससे जुड़ी जानकारी आज इस पोस्ट के माध्यम से शेयर करेंगे | 

हम सभी जानते हैं कि हमारे देश में किसानों की आर्थिक हालत कुछ ज्यादा अच्छी नहीं है और हर साल पूरे देश भर में लाखों किसान आत्महत्या कर रहे हैं क्योंकि उनके ऊपर लाखों रुपए का कर्ज होता है जो कि बहुत सही समय पर नहीं चुका पाते हैं ऐसी परिस्थिति में उनके पास में कोई दूसरा विकल्प नहीं रह पाता है इसी बात को सरकार ने भी ध्यान दिया है और सरकार अपनी तरफ से नई-नई योजनाएं लेकर आ रही है | 

किसान रेल योजना भी उन्हीं में से एक है जिसके बारे में आज हम इस पोस्ट में बात करने जा रहे हैं हम आपको इससे जुड़ी हुई सारी जानकारियों को पोस्ट में विस्तार से प्रदान करेंगे | 

लेकिन इससे पहले कि हम आपको इस योजना के बारे में बताना शुरू करें अगर आप सरकार के द्वारा चलाए जा रहे दूसरे किसानों की योजनाओं के बारे में अगर जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप हमारी वेबसाइट पर उपलब्ध है उसकी पोस्ट को भी जरूर एक बार पड़े | 

Pradhanmantri Kisan Tractor Yojana 2021 |

Kisan Rail Yojana 2021

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए महाराष्ट्र के संगोला से पश्चिम बंगाल के शालीमार तक 100 वीं किसान रेल को हरी झंडी दिखाई।अपने संबोधन में, श्री मोदी ने कहा, किसान रेल सेवा किसानों की आय बढ़ाने का एक उपाय है और यह खेती से जुड़ी अर्थव्यवस्था में एक बड़ा बदलाव लाएगी।

इससे देश की कोल्ड सप्लाई चेन की ताकत भी बढ़ेगी। प्रधानमंत्री ने कहा, यह किसानों की सेवा के लिए सरकार की प्रतिबद्धता दर्शाता है।

यह इस बात का भी प्रमाण है कि हमारे किसान नई संभावनाओं के लिए कितनी तेजी से तैयार हैं। श्री मोदी ने कहा, किसान रेल और कृषि उदयन की किसानों के लिए एक बड़ी भूमिका है ताकि वे अपनी फसल अन्य राज्यों में बेच सकें।

उन्होंने कहा, नई तकनीकों को भारतीय कृषि में शामिल किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा, सरकार कृषि उत्पादों में मूल्यवर्धन से जुड़े भंडारण से जुड़े बुनियादी ढांचे और प्रसंस्करण उद्योगों को प्राथमिकता दे रही है। प्रधानमंत्री ने कहा, किसान रेल जैसी सुविधा ने पश्चिम बंगाल के लाखों छोटे किसानों को एक बड़ी सुविधा दी है।

किसानों के लिए बड़े पैमाने पर प्रोत्साहन में, अधिसूचित फल और सब्जियों के किसान रेल माल परिवहन में 50% तक की सब्सिडी है। आम, केला, अमरूद, कीवी, लीची, पपीता, मौसम्बी, संतरा, किनौनी, चूना, नींबू, अनानास, अनार, कटहल, सेब, बादाम, आंवला, जुनून फल और नाशपाती के फल उत्पादकों को फायदा होगा। सब्जियों जैसे – फ्रेंच बीन्स, करेला, बैंगन, शिमला मिर्च, गाजर, फूलगोभी, मिर्च (हरा), ओकरा, ककड़ी, मटर, लहसुन, प्याज, आलू और टमाटर को तुरंत प्रभाव से लाभ प्राप्त करने के लिए।

इसके तहत क्या फायदा मिलेगा?

MoFPI की of ऑपरेशन ग्रीन्स – टॉप टू टोटल ’योजना के तहत, रेल मंत्रालय और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय ने अधिसूचित फलों और सब्जियों के परिवहन पर 50% अनुदान बढ़ाने का फैसला किया है यह सब्सिडी 14.10.2020 से प्रभावी किसान रेल गाड़ियों पर लागू हो गई है

किसान रेल की सेवाओं का उपयोग करने वाले किसानों के लिए एक और समर्थन और प्रोत्साहन के रूप में, रेल मंत्रालय और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि अधिसूचित फलों और सब्जियों के परिवहन पर 50% अनुदान (‘ऑपरेशन ग्रीन्स – टॉप टू टोटल’ योजना के तहत) MoFPI) को सीधे किसान रेल को प्रदान किया जाएगा – जिसके लिए MoFPI रेल मंत्रालय को आवश्यक धन उपलब्ध कराएगा। यह सब्सिडी 14.10.2020 से प्रभावी किसान रेल गाड़ियों पर लागू हो गई है।

निष्कर्ष 

हमें इस पोस्ट के माध्यम से आपको सिर्फ Kisan Rail Yojana के बारे में बताया है इससे कोई भी आम किसान तो फायदा नहीं मिलेगा, लेकिन अगर आप अपने सब्जी को कहीं दूसरे राज्यों में भेज रहे हैं तो उसे आप काफी ज्यादा फायदा होने वाला है | 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here