Integrated Child Protection Yojana In Hindi |

आज किस पोस्ट में हम Integrated Child Protection Yojana के बारे में बात करने वाले हैं और जानेंगे कि यह योजना किस प्रकार से देश के सभी बच्चों के लिए एक महत्वपूर्ण योजना है आज के समय में देश के लाखों बच्चों को सही शिक्षा नहीं मिल पाती है और ना ही उनका सही तरीके से पालन पोषण होता है इनकी वजह से उनका बचपन काफी ज्यादा मुश्किलों से गुजरता है |

सरकार ने इसी बात को ध्यान में रखा है कि किसी भी छोटे बच्चे का बचपन मुश्किलों से ना गुजरे और उसे सुख सुविधा मिले जो कि दूसरों को मिलती है इसीलिए सरकार ने जो है Integrated Child Protection Yojana की शुरुआत की है इस योजना के तहत सरकार गरीब बच्चों को बाल विकास मंत्रालय के द्वारा मदद करने जा रही है |

इसी के साथ में बाल विकास मंत्रालय के द्वारा जितनी भी योजनाएं चलाई जा रही है उन सभी को Integrated Child Protection Yojana के साथ में मिलाया जाएगा इससे की बच्चों को सरकार के द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओं का लाभ एक ही जगह  मिले |

इस योजना को केंद्र सरकार के द्वारा चलाए जा रहा है जिससे कि देश के सभी राज्यों में एक साथ में लागू की गई है इस योजना के पूरी तरीके से लागू होने के बाद में देश के सभी गरीब बच्चों को स्वास्थ्य से लेकर शिक्षा तक की जिम्मेदारी इस योजना के तहत पूरी की जाएगी | 

गरीब बच्चों को इसके तहत कुछ सुनिश्चित राशि दी जाएगी जिससे कि वह अपना जीवन को चला सके हम आगे इस पोस्ट के माध्यम से आपको यह भी बताएंगे कि आप इस योजना के लिए किस तरीके से आवेदन कर सकते हैं और कितनी राशि सरकार के द्वारा दी जाएगी | 

Midday Meal Yojana | (मिड डे मील योजना)

Integrated Child Protection Yojana

इंटीग्रेटेड चाइल्ड प्रोटेक्शन स्कीम भारत सरकार के महिला और बाल विकास मंत्रालय की एक केंद्र प्रायोजित योजना है जिसे राज्य सरकारों और नागरिक समाज संगठनों (CSO) की साझेदारी में लागू किया गया है |

एकीकृत बाल संरक्षण योजना (ICPS) भारत सरकार द्वारा बच्चों की सुरक्षा को सुरक्षित रखने में मदद करने के लिए लागू किया गया एक सरकारी कार्यक्रम है जिसमें बच्चों की देखभाल और सुरक्षा की आवश्यकता पर विशेष जोर दिया जाता है संघर्ष में किशोर या कानून और अन्य कमजोर लोगों से संपर्क किया जाता है |

बच्चे इसका प्राथमिक उद्देश्य भारत में पहले से मौजूद और बाल संरक्षण योजनाओं के लिए निगरानी और मानकीकरण प्रदान करने के लिए एक केंद्रीय संरचना तैयार करना है |

2006 में प्रस्तावित और 2009 में कार्यान्वित, ICPS को राज्य स्तर पर राज्य बाल संरक्षण समितियों और सोसाइटियों द्वारा और जिला स्तर पर जिला बाल संरक्षण समितियों द्वारा अन्य संस्थानों में प्रशासित किया जाता है।

इस योजना का उद्देश्य क्या हैं?

  • आवश्यक सेवाओं को संस्थागत बनाना और संरचनाओं को मजबूत करना है |
  • सभी स्तरों पर क्षमता बढ़ाने के लिए |
  • बाल सुरक्षा सेवाओं के लिए एक डेटाबेस और ज्ञान का आधार बनाना है |
  • परिवार और सामुदायिक स्तर पर बाल संरक्षण को मजबूत करना है |
  • सभी स्तरों पर उचित अंतर-क्षेत्रीय प्रतिक्रिया सुनिश्चित करना है |
  • जन जागरूकता बढ़ाने के लिए

मार्गदर्शक सिद्धांत क्या हैं?

  • बाल संरक्षण परिवार और अन्य हितधारकों की एक प्राथमिक जिम्मेदारी है;
  • एक प्यार करने वाला और देखभाल करने वाला परिवार बच्चे के लिए सबसे अच्छी जगह है;
  • गोपनीयता और गोपनीयता;
  • गैर-कलंक और गैर-भेदभाव;
  • कमजोरियों की रोकथाम और कमी;
  • बच्चों का संस्थागतकरण अंतिम उपाय है;
  • बाल केन्द्रित योजना और कार्यान्वयन;
  • तकनीकी उत्कृष्टता, आचार संहिता;
  • लचीली प्रोग्रामिंग, स्थानीय व्यक्तिगत आवश्यकताओं का जवाब;
  • सुशासन, जवाबदेही और जिम्मेदारी।
योजना का किस पर फोकस है|
  • जोखिम वाले बच्चों और परिवारों के लिए जरूरतों और सेवाओं का मानचित्रण करना है |
  • सभी स्तरों पर बाल संरक्षण योजनाएँ तैयार करना – राज्य, जिला, ब्लॉक और गाँव
  • सेवा वितरण तंत्र को मजबूत करना और प्रदान की गई सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार
  • गैर-संस्थागत परिवार-आधारित देखभाल कार्यक्रम को बढ़ावा देना और मजबूत करना है |
  • सेवा प्रदाताओं की क्षमता विकसित करना है |
  • ज्ञान का आधार, जागरूकता और वकालत को मजबूत करना है |
  • बच्चों पर एक एकीकृत, लाइव, वेब-आधारित डेटाबेस स्थापित करना है |
  • जाचना और परखना
  • सभी स्तरों पर बाल संरक्षण के लिए साझेदारी और अन्य निकायों और संस्थानों के साथ संबंधों को मजबूत करना है |
निष्कर्ष 

इस पोस्ट के माध्यम से Integrated Child Protection Yojana के बारे में अवगत करवाया है अगर आपके शहर में या फिर गांव में कोई इस योजना का लाभ लेने का हकदार है तो जरूर उसे इसके बारे में बताएं और इसके लिए आप अपने नजदीकी सरकारी अधिकारी से संपर्क करें | 

shailendra singhhttps://eazyhindi.net
shailendra singh is the Author of the eazyhindi.net He has also completed his graduation in Computer science from sagar (mp) . He is passionate about Blogging Here I regularly share useful and helpful information for my readers.

Related Post

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Articles

pradhan mantri awas yojana 2020 | pmay online apply

आपके पास में खुद का घर नहीं है और अगर आपके पास में इतने पैसे नहीं है कि आप अपना खुद का घर बना...

Farm Machinery Bank Yojana Hindi 2021

आज इस पोस्ट के माध्यम से Farm Machinery Bank Yojana के बारे में आपको जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं जहां पर हम बताएंगे...

Naveen Rojgar Chatri Yojana | (नवीन रोजगार छतरी योजना)

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने Naveen Rojgar Chatri Yojana की शुरुआत की है इस योजना के नाम से ही हम जान सकते...

Swami Vivekananda Paryatan Yojana 2021 |

हम इस पोस्ट में आज Swami Vivekananda Paryatan Yojana के बारे में जानकारी को आपके साथ में शेयर करने जा रहे हैं और बताएंगे...

Berojgari Bhatta Yojana 2021 Hindi

हम आज इस पोस्ट के माध्यम से Berojgari Bhatta Yojana के बारे में बताने जा रहे हैं जैसा कि हम सभी जानते हैं कि...
Google »Translate